Tuesday, September 10, 2019

Paheliyan 10 best hindi paheliyan

Paheliyan

Paheliyan - Doston aaj mai aap logo ko top 10 best hindi paheliyan batane wala hun. Paheliyan ke sath sath unke answer bhi diye jayenge. Agar aap logon ko iska javab jante hain to aap hamein comment karke batayen.

10 Paheliyan

Paheli no - 01


paheliyan

एक घोड़ा ऐसा जिसकी छः टांगें दो सुम ,
और तमाशा ऐसा देखा पीठ के ऊपर दुम |

Ans - ( तराजू )

Paheli no - 02


बेसक न हो हाथ में हाथ ,
जीता है वह आपके साथ |

Ans - ( परछाई )

Paheli no - 03


एक पहेली सदा नवेली जो बुझे सो जिन्दा ,
जिन्दा में से मुर्दा निकले ,मुर्दा में से जिन्दा |

Ans - ( अंडा )

Paheli no - 04


paheliyan


जो तुझमें है वह उसमें नहीं ,
जो झंडे में है वह डंडे में नहीं |

Ans - (  )



Paheli no - 05


आगे से गांठ गठीला ,पीछे से वो टेढ़ा ,
हाथ लगाये कहर खुदा का ,बुझ पहेली मेरा |

Ans - ( बिच्छू )

Paheli no - 06


paheliyan


कमर बांध कोने में पड़ी ,
बड़ी सबेरे अब है खड़ी |

Ans - ( झाड़ू )

Paheli no - 07


हाल पानी का देखकर बहुत ताजुब आये ,
दरखत में डूबा भरा ,डालियाँ प्यासी जाये |

Ans - ( ओस )

Paheli no - 08


काटते हैं ,पिसते हैं 
बांटते हैं पर खाते नहीं |

Ans - (  ताशपत्ती  )

Paheli no - 09

चार है चिड़िया, चार है रंग |
चारों के बदरंग ,चारों जब बैठे साथ ,
लगे एक ही रंग |

Ans - ( पान  )



Paheli no - 10


paheliyan


छूने में शीतल ,सूरत में लुभानी ,
रात में मोती और दिन में पानी | 

Ans - ( ओस ) 


Doston aap logo ko ye paheli kaise lagi aap hamein comment karke batayen. Aur post ko share karna na bhulen.

Wednesday, September 4, 2019

Pheliyan - बताओ तो मैं जानू

Paheliyan - बताओ तो मैं जानू


10 Paheliyan - बताओ तो मैं जानू

Paheli no - 01



paheliyan


न काशी, न बाबाधाम,
बिन जिनके हो चक्का जाम |
पानी जैसी चीज़ है वह,
झट बताओ उसका नाम |

Ans :- ( पेट्रोल ) 

Paheli no - 02



आवाज़ है, इंसान नहीं,
जवान है निशान नहीं |

Ans :- ( ऑडियो कैसेट )


Paheli no - 03



paheliyan


खुशबू है गुलाब नहीं,
रंगीन है लेकिन शराब नहीं |
सुगंध है, कोई प्रेम पत्र नहीं,
ये ज़हर है लेकिन गुलाब नहीं |

Ans :- ( इत्र )


Paheli no - 04



शुरू कटे तो नून बने,
मध्य कटे तो कान |
अंत कटे तो काना बन,
जो न जाने उसका बाप शैतान |

Ans :- ( कानून )

Paheli no - 05



paheliyan


हरी डिब्बी, पिला मकान,
उसमें बैठा कल्लू राम |

Ans :- ( पपीता और बीज )

Paheli no - 06



खड़ी करो तो गिर पड़े,
दौरी मीलों जाएँ |
नाम बता दो इसका,
यह तुम्हें हमें बिठाये |

Ans :- ( साइकिल )

Paheli no - 07



बिल्ली की पूंछ हाथ में,
बिल्ली रहे इलाहाबाद में |

Ans - ( पतंग )

Paheli no - 08



paheliyan

छोटा - सा धागा,
सारी बात ले भागा |

Ans :- ( टेलीफोन )

Paheli no - 09


एक महल बसी कोठरी सब है फाटकदार,
खोले तो दरवाजा मिले न राजा, न पहरेदार |

Ans :- ( प्याज )

Paheli no - 10


paheliyan


तीन अक्षर का मेरा नाम,
प्रथम कटे तो शस्त्र बनू |
मध्य कटे तो बनू मैं आन,
बोलो क्या है मेरा नाम |

Ans :- ( आँगन )


Doston ye the aaj ke kuchh 10 paheliyan jise aap logon ko padh ke maja aaya hoga. Paheliyan hoti hi hai maja aane ke liye. Agar aap logo ko pasand aaya to hamein comment karke bataye.

Comment aur Share karna na bhulen.

Thank you.

Tuesday, September 3, 2019

10 जबरदस्त और मजेदार Paheliyan

10 जबरदस्त और मजेदार Paheliyan

जानते हैं 10 सबसे मजेदार Paheliyan


Paheliyan


Paheli no - 01


साँपों से भरी एक पिटारी,
सबके मुँह में दी चिंगारी |
जोड़ों हाथ तो निकल घर से,
फिर घर पर सिर दे पटके |

Ans :- ( माचिस )

Paheli no - 02


तीन अक्षरों का मेरा नाम,
आदि कटे तो चार |
कैसे हो तुम मैं जानू,
बोलो तुम सोच विचार |

Ans :- (अचार )

Paheli no - 03


एक फूल है काले रंग का,

सिर पर सदा सुहाए |
तेज धूप में खिल - खिल जाता,
पर छाया में मुरझाये |


Ans :- ( छाता )

Paheli no - 04


paheliyan

एक छोटा सा बन्दर,
जो उछले पानी के अन्दर |

Ans :- ( मेढक )

Paheli no - 05


हाथ पैर सब जुदा - जुदा,
ऐसे सूरत दे खुदा |
जब वह मूरत बन ठन आवे,
हाथ धरे तो राग सुनावे |

Ans :- ( हुक्का )

Paheli no - 06


अंत कटे तो कौवा बन जाये,
प्रथम कटे दुरी का माप |
मध्य कटे तो कार्य बने,
तीन अक्षर का उसका नाम |

Ans :- ( कागज )

Paheli no - 07


Paheliyan

ऐसा शब्द लिखिए जिससे,
फूल,  मिठाई , फल बन जाये |

Ans :- ( गुलाब जामुन )

Paheli no - 08


थल में पकडे पैर तुम्हारे,
जल में पकडे हाथ |
मुर्दा होकर भी रहता है,
जिन्दों के ही साथ |

Ans :- ( जूता )

Paheli no - 09


बच्चे भी कहते हैं मामा,
बूढ़े भी कहते हैं मामा |
दादी भी कहते हैं मामा,
बोलो कौन से हैं मामा |

Ans :- ( चंदा मामा )

Paheli no - 10

Paheliyan

तीन पैर की तितली,
नहा धो के निकली |

Ans :- ( समोसा )

Aajkal log manoranjan karne ke bahut se saadhan bana liye hain. Khelna, daurna, ghumna ye sab pale log man bahlane ke liye kiya karte the lekin ab log iske ulta tivi dekhna mobile mein lage rahna jaise subidhaye khoj liye hain. Bachche, budhe aur jawan sabhi logo ko manoranjan ki jarurat padti hai. Agar thik se manoranjan na kiya jaye to manushya mein sochne aur samjhne ki shakti dheere - dheere kam hone lagti hai aur manushya ka dimag kam karna band kar deta hai. Manoranjan karne se hamein man mein badlav aata hai aur kam karne mein bhi man lagta hai. 

Monday, September 2, 2019

Paheliyan जो दिमाग हिला दें

Paheliyan जो दिमाग हिला दें


10 सबसे खतरनाक Paheliyan

Paheli no - 1

Paheliyan


हरी डंडी, लाल कमान,
तौबा, तौबा करे इंसान |

Ans :- ( मिर्ची )

Paheli no - 2

कल बनता धड़के बिना,
मल बनता सिरहीन |
थोड़ा हूँ पैर कटे तो ,
अक्षर केवल तीन |


Ans :- ( कमल )

Paheli no - 3

paheliyan


तीन अक्षर का मेरा नाम,
उल्टा सीधा एक सामान |

Ans :- ( जहाज )

Paheli no - 4

पानी से निकलता दरख्यत एक,
पात नहीं पर डाल अनेक |
एक दरख्यत की ठंडी छाया,
नीचे एक बैठ न पाया |


Ans :- ( फुहारा )

Paheli no - 5

हमने देखा अजब एक बंदा,
सूरज के सामने रहता ठंडा |
धूप में जरा नहीं घबराता,
सूरज की तरफ मुह लटक जाता |


Ans :- ( सूरजमुखी )

Paheli no - 6

paheliyan


काला हंडा, उजला भात,
ले लों भाई हाथों - हाथ |


Ans :- ( सिंघाड़ा )

Paheli no - 7

परत - परत पर जमा हुआ है,
इसे ज्ञान ही जान |
बस्ता खोलोगे तो इसको,
जाओगे तुम पहचान |


Ans :- ( किताब )

Paheli no - 8

हाथी, घोड़ा, ऊँट नहीं,
खाए न दाना, घास |
सदा ही धरती पर चले,
होए न कभी उदास |


Ans :- ( साइकिल )
Paheli no - 9
paheliyan


मै हरी, मेरे बच्चे काले,
मुझे छोड़ मेरे बच्चे खाले |


Ans :- ( इलायची )
Paheli no - 10
चार हैं रानियाँ और एक है राजा,
हर एक काम में उनका अपना साझा |


Ans :- ( अंगूठा और अंगुलियाँ )



Doston ye the kuch 10 sabse majedar paheliyan. Ise jankar aap logon ko bahut maja aaya hoga. Lekin aap logon ko pata hai ki aajkal duniya mein sabhi log apne - apne kam mein busy ho gaye hain. Koi cricket dekhne mein, koi masti karne mein, koi padhne mein to koi apna job karne mein. Kuchh log to job karte - karte ye bhi bhul jate hain ki unka bhir koi ghar hai. na to wo apne bachchon se thik se baat kar pate hain aur na apne ristedaron se yaha ja pate hain. Unke na ja pane se bachche bhi na ja pate hain. Jisase bachchon ka manoranjan nahi ho pata hai. Bachachon ka manoranjan karne ke liye paheliyan ek sasta rasta hai. Isliye hamne 10 behtrin paheli post kiya hai jisse sirf bachchon ko hi nahi balki aap sabhi logon ka manoranjan ho sake.
                         To doston aap sabhi logon ko ye paheliyan kaise lagi please comment karke hamein bataye taki mai aap logon ke liye hi majedar paheli la saku.
                                       
Thank you.


thank you

Sunday, September 1, 2019

10 Best latest hindi paheliyan

Best Hindi Paheliyan

दोस्तों, हम लोगों ने बहुत सारी Paheliyan पढ़ा या सुना होगा। Paheliyan छोटे बच्चों के दिमाग का विकास करती है। जिससे बच्चों में सोचने और समझने की शक्ति बढ़ती है। आज मैं आपको 10 hindi paheliyan बताने जा रहा हूँ।



10 best hindi paheliyan | paheliyan |

10 Best Hindi Paheliyan with answer

Paheli no - 01


काली है पर काग नही,

लम्बी है पर नाग नही।
बल खाती है ढोर नही,
बाँधते हैं पर डोर नही।


Ans :- ( चोटी )

Paheli no - 02


paheliyan

काले वन की रानी है,
लाल पानी पीती है ।

Ans :- ( खटमल )


Paheli no - 03


अपनों के ही घर ये जाये,
तीन अक्षर का नाम बताए।
शुरु के दो अति हो जाये ,
अंतिम दो से तिथि बताए।

Ans :- ( अतिथि )

Paheli no - 04


paheliyan

बीमार नही रहती ,
फिर भी खाती है गोली।
बच्चे, बूढे डर जाते ,
सुन इसकी बोली ।

Ans :- ( बंदूक )

Paheli no - 05



एक पहेली मैं बुझाऊ,
सिर को काट नमक छिड़काऊ।

Ans :- ( खीरा )

Paheli no - 06



खाते नही चबाते लोग,
काठ में करवा रस संयोग।
दाँत जीभ की करे सफाई,
बोलो बात समझ में आई।

Ans :- ( दाँतुन )

Paheli no - 07



चार ड्राईवर एक सवारी,
उसके पीछे जनता भारी ।

Ans :- ( मुर्दा )

Paheli no - 08


paheliyan

मैं मरुँ मैं कटूँ,
तुम्हें क्यूँ आँसू आये ।

Ans :- ( प्याज़ )

Paheli no - 09



ऊँट की बैठक , हिरण की चाल,
बोलो वह कौन है पहलवान ।

Ans :- ( मेढक )

Paheli no - 10



काला मुँह लाल शरीर,
कागज़ को वह खाता।
रोज शाम को पेट फाड़कर,
कोई उन्हें ले जाता ।

Ans :- ( लेटर बॉक्स )


दोस्तों ये आज के कुछ मज़ेदार paheliyan थी जिसे जान कर आपको माजा आया होगा। मैं रोज आपके लिए ऐसी ही paheliyan लाता रहूँगा ।


Thank you.